What is UPSC Exam ? Jane Hindi me

what is UPSC Exam ?

इस ब्लॉग में हम जानेगे UPSC Exam क्या होता है UPSC Exam करने के लिए आपकी योग्यता क्या होनी चाहिए और UPSC पास करने के बाद कौन कौन से अधिकारी बनते है
इत्यादी |

UPSC का पूरा नाम Union public Service Commission” जिसको हिंदी में “ संघ लोक सेवा आयोग ” कहते है | जिसका उदेश्य प्रथम तथा दुतीय श्रेणी के अधिकारियो को नियुक्ति करना है |

अधिकारियो के चयन के लिए सदस्य का गठन
प्रथम तथा दुतीय श्रेणी के अधिकारियो के नियुक्ति के लिए सदस्यों का गठन राष्ट्रपति के द्वारा होता है जो सदस्य चुने जाते है उसमे आधे से ज्यादा लोक सेवा के सदस्य होते है तथा उनका अनुभव 10 बरसो से ज्यादा का होता है | सदस्यों का कार्य करने का समय 6 वर्षों तक होता है | राष्ट्रपति अगर किसी भी सदस्य को गलत कार्य में सलिग्न पता है तो उसे बर्खास्त कर सकता है तथा सदस्य अगर चाहे की मुझे काम नही करना है तो वो अपना इस्तीफा राष्ट्रपति को दे सकता है |

सदस्य का कार्य क्या है ? और ये किन किन पदो के लिए Exam करवाता है |
सदस्य का कार्य प्रथम तथा दुतीय श्रेणी के अधिकारियो का नियुक्ति करना है | जिसके लिए निम्नलिखित पदो के लिए परीक्षा आयोजन करवाना है जिसमे निम्नलिखित पद होते है |
1. सिविल सेवा परीक्षा  (Civil Services Exam)  (CSE)
2. भू-विज्ञानी परीक्षा (Combined Geo-Scientist and Geologist Exam) (CGGE)
3. इंजीनियरी सेवा परीक्षा (Engineering Services Exam) (ESE)
4. भारतीय वन सेवा परीक्षा (Indian Forest Services Exam) (IFS)
5. सम्मिलित रक्षा सेवा परीक्षा (Combined Defence Services Exam)  (CDSE)
6. सम्मिलित चिकित्सा सेवा परीक्षा (Combined Medical Services Exam) (CMSE)
7. स्पेशल क्लास रेलवे अप्रेंटिसेज़ परीक्षा (Special Class Railway Apprentice) (SCRA)
8. भारतीय अर्थ सेवा (Indian Economic Services Exam) (IESE)
9.  भारतीय सांख्यिकी सेवा परीक्षा (Indian Statistical Services Exam) (ISSE)
10. राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (National Defence Academy Exam) (NDA)
11. नौसेना अकादमी परीक्षा (Navel Academy Exam) (NA)
12. अनुभाग अधिकारी/आशुलिपिक (ग्रेड ख/ग्रेड 1) सीमित विभागीय प्रतियोगिता परीक्षा (Section Officers/Stenographer (Group A/B) Department Competitive Exam)  (SOSDC)

UPSC  के पदों की Exam किस किस महीने में होती है |
1. सिविल सेवा (इसके दो Exam होते है पहला मई के महीने में तथा दूसरा अक्टूबर / नवम्बर में
2. भू-विज्ञानी Exam  (दिसम्बर के महीने में)
3. इंजीनियरी सेवा Exam (जुलाई के महीने में)
4. भारतीय वन सेवा Exam (जुलाई के महीने में)
5. सम्मिलित रक्षा सेवा Exam (मई और अक्टूबर में)
6. सम्मिलित चिकित्सा सेवा Exam (फरवरी महीने में)
7. स्पेशल क्लास रेलवे अप्रेंटिसेज़ Exam (अगस्त के महीने मे)
8. भारतीय अर्थ सेवा/भारतीय सांख्यिकी सेवा Exam (सितम्बर)  
9. राष्ट्रीय रक्षा अकादमी और नौसेना अकादमी Exam (अप्रैल और सितम्बर महीने मे)
10. अनुभाग अधिकारी/आशुलिपिक (ग्रेड ख/ग्रेड 1) सीमित विभागीय प्रतियोगिता परीक्षा (दिसम्बर के महीने मे)

UPSC करने के लिए आपकी योग्यता क्या होनी चाहिए |

  • सबसे पहले IAS, IFS और IPS  के Exam के लिए आपको भरतीय नागरिक होना जरुरी है तभी आप यह  Exam  दे सकते है |
  • भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त विस्वविधालय से डिग्री या उसके समकक्ष डिग्री होनी चाहिए
  • उमीदवार की अधिकतम आयु सीमा 32 तथा नुनतम सीमा 21 वर्ष होनी चाहिए |
  • अन्य पिछड़ी जाती के उमीदवार के लिए आयु सीमा में 3 साल की छुट होती है |
  • SC और ST के जो उमीदवार है उनके लिए आयु सीमा में 5 साल की छुट होती है |

(Note: अन्य पिछड़ी जाती के उमीदवार के लिए आयु सीमा में कभी फेर बदल भी किये जाते है )

UPSC Exam कितनी बार दे सकते है |

1. General कैटोगरी के उमीदवार 4 बार UPSC Exam  के लिए प्रयाश कर सकते है (आयु
सीमा के अंतर्गत)
2. OBC कैटोगरी के उमीदवार 7 बार UPSC Exam  के लिए प्रयाश कर सकते है (आयु सीमा
के अंतर्गत)
3. SC और ST के उमीदवार आयु सीमा के अंतर्गत कई बार प्रयाश कर सकते है |

UPSC Exam के लिए 3 चरण से गुजरना पड़ता है |

1. प्रारंभिक परीक्षा : इसमें उमीदवार को तर्क तथा बिस्लेसन के आधार पर तवला जाता है,
इसमें 2 पेपर दिए जाते है जो 200 अंको के होते है तथा इसे 2 घंटो में पूर्ण करना होता है | प्राम्भिक परीक्षा में जो उतीर्ण होता है उसको आगे Exam के लिए चुना जाता है |

( पेपर के विषय भारत के इन बिन्दुवो पर आधारित होते है भारतीय आंदोलनों का इतिहास राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय महत्व का करंट अफेयर्स, भारत और विश्व का भूगोल, भारतीय राजनीति और सरकार, आर्थिक व समाजिक विकास, परिस्थितिक तंत्र, जैविक भिन्नता और ऋतू परिवर्तन पर सामान्य विषय इत्यादि )

2. मुख्य परीक्षा : इस परीक्षा को (CSAT) कहते है | इसमें पेपर के अवधी 2 घंटे का होता है तथा 200 अंक प्राप्त करने होते है |
( पेपर के विषय निम्नलिखित बिन्दुवो पर आधारित होते है संचार व पारम्परिक कौशल, लॉजिक रीजनिंग व विश्लेषात्मक क्षमता, निर्णय लेना व समस्या समाधान क्षमता, मानसिक क्षमता और प्राथमिक गणित )

3. साक्षात्कार परीक्षा : इसमें ऊपर के दोनों परीक्षा पास होने के बाद साक्षात्कार परीक्षा तक पहुचते है आमने सामने उमीदवार को वैठाकर सवाल जवाब पूछे जाते है जिसमे उमीदवार के बौधिक छमता का आकलन किया जाता है | ये बहुत ही कठिन परीक्षा होता है जिसमे उमीदवार के बौधिक छमता को परखा जाता है |

समीक्षा: इस आर्टिकल में हमने जाना की UPSC के Exam क्या होता है और कितने प्रकार के होते है तथा यह किस तरह से करवाए जाते है तथा इसको करवाने के लिए किस सदस्य का चयन किया जाता है | तथा  UPSC Exam के लिए योग्यता क्या होनी चाहिये तथा भारत में जितने वर्ग है उनकी आयु सीमा कितनी निर्धारित की हुई है तथा ओ कितनी बार UPSC के Exam को दे सकते है | 

admin

Read Previous

Best Domain Hosting Providers in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: